Friday, September 5

हम बेखुदी में

हम उम्म्म हम हम हम हम आ आ आ चले गए
हम बेखुदी में तुम को पुकारे चले गए हम..
हम बेखुदी में तुम को पुकारे चले गए
सागर में ज़िन्दगी को उतारे चले गए हम॥

देखा की यह तुम्हे हम बनके दीवाना
उतरा हो नशा तो हम ने यह जाना
सारे वोह ज़िन्दगी के सहारे चले गए
हम बेखुदी में तुम को पुकारे चले गए हम॥

तुम तो न कहो हम ख़ुद ही से खेले
डूबे नहीं हमी यूँ नशे में अकेले
शीशे में आप को भी उतारे चले गए
हम बेखुदी में तुम को पुकारे चले गए
सागर में ज़िन्दगी को उतारे चले गए हम..

2 comments:

  1. Preethe,

    Lyrics...... but this one has a bit of blue in it....:-)
    As I used to tell,I always wonder how the lyricists pen it.Btw is this a song from a film or.....

    Keep the bhekudi and stuff in the closet and have a nice weekend
    :-) :-),


    K.Kiran.

    ReplyDelete
  2. Hi Kiran

    This is one song which I like the most. This is from Dev Anand's movie Kala Pani, sung by Mohammed Rafi.

    ReplyDelete